सरकारी गोदामों का अनाज चूहे खा गए या अफसर, 7 दिन में सरकार ने मांगा जवाब
चंडीगढ़

सरकारी गोदामों का अनाज चूहे खा गए या अफसर, 7 दिन में सरकार ने मांगा जवाब

एक्शन में विभाग- दागी अफसरों पर भी कार्रवाई की तैयारी, सस्पेंशन से लेकर रिकवरी तक होगी
पंजाब सरकार ने पंजाब भर में मंडियों से अनाज खरीदने वाली अपनी सभी सरकारी खरीद एजेंसियों से उनके गोदामों में पड़े पूरे अनाज का हिसाब-किताब मांगा है। फूड सप्लाई, पनग्रेन, वेयर हाउस, पनसप और मार्कफेड के अधिकारियों को अनाज का ये पूरा रिकॉर्ड इसी सप्ताह के अंत तक जमा करवाना है। एजेंसियों के जिला अधिकारियों को सिर्फ एक सप्ताह का समय दिया गया है ताकि वे गोदामों का जायजा लेकर और रिकॉर्ड से मिलान कर स्टोर अनाज की जानकारी दें। दरअसल, सरकार को सरकारी गोदामों से अनाज की चोरी से लेकर घपलेबाजी की शिकायतें काफी अधिक संख्या में मिली हैं। उसके आधार पर ये कार्रवाई की गई है।

लाल चंद कटारूचक, फूड एंड सप्लाई मंत्री ने बताया कि आम आदमी पार्टी की सरकार करप्शन को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति पर चल रही है। पंजाब में हर साल हजारों करोड़ रुपए के अनाज घोटाले सामने आते रहे हैं। हम अपनी सरकार में अनाज की हेराफेरी को लेकर कोई घोटाला सहन नहीं करेंगे, इसीलिए सरकारी गोदामों में जमा अनाज का पूरा हिसाब-किताब करवा रहे हैं। समय समय पर गोदामों में आने वाले अनाज और अलग अलग राज्यों में जाने वाले अनाज का पूरा मिलान किया जाएगा, ताकि समय रहते ही गड़बड़ी का पता लगाया जा सके।
एक सप्ताह में अनाज का रिकॉर्ड न देने पर अफसरों पर होगी कार्रवाई

सरकारी खरीद एजेंसियों में अनाज की कमी का मुख्य कारण चूहों द्वारा खराब किए जाने से लेकर चोरी के मामलों का होना बताया जाता है। वहीं खुले में पड़ा अनाज भी कई बार खराब हो जाता है। इन सब की आड़ में कई बार अनाज बड़ी मात्रा में गायब किया जाता है। कई कई सालों तक अनाज का हिसाब-किताब नहीं होता और फिर सबकुछ बट्टे खाते में डाल दिया जाता है। एक सप्ताह में जिन अधिकारियों ने सरकारी गोदामों में रखे अनाज का रिकॉर्ड नहीं दिया, उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

गड़बड़ियां पहले के अफसरों ने की या अभी के, किसी को नहीं बख्शेंगे
जिन जिलों में रिकॉर्ड पूरा नहीं मिला और संतोषजनक जवाब भी नहीं दिया तो अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करेंगे। गड़बड़ियां पहले के अफसरों ने की या अभी के अफसरों ने किसी को नहीं बख्शेंगे। -लाल चंद कटारूचक, फूड एंड सप्लाई मंत्री

अनाज पर डाका }चोरी की शिकायतें मिलने पर सरकारी खरीद एजेंसियों से मांगा रिकॉर्ड

पटियाला आैर फरीदकोट में सामने आ चुके हैं घोटाले…
22 जून, 2022 को ही पनग्रेन के पातड़ां, पटियाला ऑफिस में चार अधिकारियों के खिलाफ 1590 बैग अनाज गायब होने के मामले में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। इससे पहले 10 मई को फरीदकोट में जिला वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन के तीन अधिकारियों और कर्मचारियों पर 2 करोड़ रुपए के 23 हजार गेहूं के बैग गायब करने का आरोप लगा है। इसमें तीन सिक्योरिटी गार्ड्स की मदद से चोरी किए गए और फिर आग लगा दी गई। बाद में पुलिस ने मामले की जांच के बाद इस चोरी का खुलासा किया। इसके अलावा 2016 में भी कैग रिपोर्ट में पंजाब में एक दशक में 12000 करोड़ के अनाज के गायब होने की बात कही जा चुकी है। जिस पर आज तक कोई ठोस जांच या कार्रवाई नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.