क्रॉस वोटिंग : हमें तो लग रहा था 8-10 वोट बाहर जा सकते हैं, लेकिन दो ही गए: गहलोत
दिल्ली

क्रॉस वोटिंग : हमें तो लग रहा था 8-10 वोट बाहर जा सकते हैं, लेकिन दो ही गए: गहलोत

सर्वदलीय बैठक से पहले बोले- वसुंधरा डर गईं, शायद हाईकमान का डंडा पड़ा होगा
ईआरसीपी मुद्दे पर होने वाली सर्वदलीय बैठक से पहले गहलोत ने विपक्ष पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक में पहले वसुंधरा राजे आ रही थीं, लेकिन फिर मैसेज आया कि शायद वे नहीं आ रहीं। ऐसा क्या कारण रहा कि पहले तो वे सर्वदलीय बैठक में आने की बात कह रहीं थीं और अब नहीं आ रहीं। राजे के नहीं आने का कारण समझ नहीं आ रहा। क्या उनके हाईकमान का दबाव पड़ा। गहलोत बोले कि वसुंधरा राजे डर गईं होंगी या हाईकमान का डंडा पड़ा होगा। उन्होंने कहा कि ईआरसीपी इतना बड़ा इश्यू है, वसुंधरा राजे के कार्यकाल में ईआरसीपी योजना चालू हुई है, वे इसके बारे में सब कुछ जानती हैं। वसुंधरा राजे आतीं तो राज्य सरकार और सब मिलकर हम विचार मंथन करते और केंद्र पर इसे राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने पर दबाव बनाते।

निर्दलीय, सीपीएम और बीटीपी ने सरकार बचाई
गहलोत ने कहा है कि विधायकों ने जो साथ दिया है, उसे हम भूल नहीं सकते। विधायक चाहे निर्दलीय हों, सीपीएम, बीएसपी और बीटीपी के विधायक हों उन्होंने जिस तरह साथ दिया है उसे भुला नहीं सकते। अगर सरकार बची है तो सीपीएम, बीटीपी, निर्दलीय विधायकों के कारण बची है। हम यह भूल नहीं सकते।
धर्म का नाम आते ही भाजपा वाले चैंपियन बन जाते हैं

भरतपुर में बृज क्षेत्र में चल रहे खनन के विरोध में संत विजयदास के आत्मदाह को लेकर गहलोत ने कहा कि संत विजयदास का आत्मदाह बहुत दुखद है, पहले भाजपा राज में भी उस क्षेत्र में खानें शिफ्ट हुई थीं। उन्होंने कहा कि भाजपा इसे अवैध खनन बता रही है जबकि यह वैध है। लेकिन इसके बाद भी धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए लीगल माइंस को शिफ्ट करने का फैसला किया है। इसके बाद यह हादसा नहीं होना चाहिए था। किन हालात में संत विजयदास ने आत्मदाह किया उसकी हम जांच करवा रहे हैं। गहलोत बोले कि धर्म का नाम आते ही भाजपा वाले चैंपियन बन जाते हैं। सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ पर गहलोत ने कहा कि भाजपा पूरे देश में एक्सपोज हो रही है। ईडी, आईटी हो इनकी क्रेडिबिलिटी बने रहे, ये खुद दबाव में काम कर रहे हैं। इन संस्थाओं की क्रेडिबिलिटी बनी रहनी चाहिए क्योंकि इनकी क्रेडिबिलिटी नीचे आएगी तो समाज को नुकसान होगा। देश समझ रहा है।

जयपुर | भास्कर समूह के प्राइड ऑफ राजस्थान अवार्ड समारोह में शामिल होने पहुंचे सीएम अशोक गहलोत ने कार्यक्रम समापन के बाद सियासी मुद्दों पर पूछे गए सवालों के भी खुलकर जवाब दिए। राष्ट्रपति चुनावों में पार्टी में क्रॉस वोटिंग के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह मुद्दा ही ऐसा था। हमें तो लग रहा था कि 8 से 10 वोट बाहर जा सकते हैं लेकिन दो ही गए। गहलोत ने कहा कि हर विधायक चाहता है कि जनता में मैसेज रहे कि विधायक प्रदेश में कांग्रेस सरकार के साथ हैं ताकि गवर्नेंस अच्छी हो। उन्होंने कहा कि सरकार मजबूत होगी तो सुशासन होगा, इसीलिए वे सरकार को समर्थन दे रहे हैं। राजस्थान पहला राज्य है जहां बिना हॉर्स ट्रेडिंग के बीएसपी के छह विधायकों ने कांग्रेस में विलय किया। हमारा पूरा कुनबा एकजुट है। गहलोत ने कहा- इस बार हम चाहते हैं कि सरकार रिपीट हो। हमने किसी क्षेत्र में कोई कमी नहीं रखी। हमारी सरकार रिपीट हो जाती तो रिफाइनरी का 38 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट आज 70 हजार करोड़ का नहीं होता। इस बार हम काम को आधार बनाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.