देश

147 में से 28 ग्राम पंचायतों में उपसरपंच का चुनाव नहीं

अगले 6 माह में चुनाव प्रक्रिया पूरी करनी होगी
मुरार और भितरवार जनपद की ग्राम पंचायतों में उपसरपंच चुने जाने की प्रक्रिया के दौरान कई जगह प्रत्याशी न होने से अजीब स्थिति बन गई। इन दोनों ब्लॉक की 147 ग्राम पंचायत में रविवार को उपसरपंच चुने जाने की प्रक्रिया हुई। लेकिन 28 ग्राम पंचायत ऐसी रहीं, जिनमें पंच संख्या 3 से कम थी और वहां उपसरपंच का चुनाव नहीं हो सकता था। मुरार जनपद के सीईओ राजीव मिश्रा ने बताया कि जहां उपसरपंच का चुनाव रविवार को नहीं हुआ। वहां 6 माह में प्रक्रिया पूरी करनी होगी। इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों के पास भेजी जाएगी।
मानदेय-पंचायत के ~34 लाख मिले, निगम के ~40 लाख का इंतजार

ग्वालियर| पंचायत चुनाव की पोलिंग पार्टी में शामिल अधिकारी-कर्मचारी व निगरानी करने वाले अफसरों को 34 लाख का भुगतान हो चुका है। इनकी ड्यूटी चुनाव के दौरान 25 जून को अलग-अलग क्षेत्रों में लगी थी। पंचायत चुनाव में कुल 4 हजार 230 अधिकारी-कर्मचारी लगे थे। दूसरी तरफ सात नगरीय निकायों में मतदान वाले दिन 6 जुलाई को ड्यूटी करन वाले 5 हजार 900 अधिकारी-कर्मचारियों को अभी मानदेय का इंतजार है। इन्हें इस महीने चुनाव ड्यूटी का पैसा नहीं मिल सकेगा। कोषालय अधिकारी अरविंद शर्मा ने कहा कि पंचायत मानदेय के 34 लाख रुपए सभी के खातों में पहुंच चुके हैं। जिन्होंने नगरीय निकाय चुनाव कराए हैं, उन अधिकारी-कर्मचारियों के खातों की जांच व ड्यूटी का सत्यापन अभी हो रहा है। इन्हें अगले 10 दिन में भुगतान हो जाएगा। शर्मा ने कहा कि निकाय चुनाव कराने वाले अमले को लगभग 40 लाख का भुगतान होना है।

जानिए…कहां क्या स्थिति रही
{डबरा: कुल ग्राम पंचायत- 65
निर्विरोध उपसरपंच- 38 ग्राम पंचायत में। 3 से कम पंच और प्रस्ताव न होने से चुनाव नहीं हुए- 21 ग्राम पंचायत: सविरोध चुने गए-06


भितरवार: कुल ग्राम पंचायत- 82
निर्विरोध उपसरपंच- 53 ग्राम पंचायत में। 3 से कम पंच होने पर चुनाव नहीं हुए- 07, सविरोध चुनाव हुए- 19 ग्राम पंचायत में। 03 ग्राम पंचायत में कोई प्रत्याशी नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.