lok sabha elections 2019
चुनाव

गौरीभाऊ को संगठन का साथ, सांसद बोधसिंह भगत निराश, असमंजस में भाजपा हाईकमान

बालाघाट। बालाघाट -सिवनी लोकसभा सीट पर कांग्रेस ने समय पर अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है और कांग्रेस लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी है, वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं को अभी भी अपने प्रत्याशी की घोषणा का इंतजार है। इस लोकसभा चुनाव में जीत को लेकर दोनों प्रमुख पार्टियों के पास अपने अपने तर्क हैं, लेकिन कांग्रेस की स्थिति विधानसभा चुनाव में आए परिणामों के बाद सुधरी है। वर्तमान में बेहतर नजर आ रही है। भाजपा में प्रत्याशी को लेकर अभी भी उठा पटक का दौर जारी है। वर्तमान भाजपा सांसद बोधसिंह भगत अपनी टिकट के लिए अभी भी भारी जद्दोजहद कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ बालाघाट विधायक और पूर्व कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन जो भाजपा के लोकप्रिय और कद्दावर नेता भी है अपनी पसंद के प्रत्याशी को टिकट दिलाने के लिए पूरी तरह प्रयासरत हैं।

पार्टी हाईकमान गौरी भाऊ और सांसद बोधसिंह भगत के बीच सुलह कराने की लगातार कोशिश कर रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, विधायक और पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन को पूरे लोकसभा क्षेत्र के भाजपा संगठन का साथ मिला हुआ है, जिसके कारण सांसद बोधसिंह भगत की टिकट अधर में लटकी हुई है, भाजपा हाईकमान असमंजस में हैं। बोधसिंह भगत और भाजपा जिला अध्यक्ष रमेश रंगलानी भाजपा हाईकमान को यह बताने और विश्वास दिलाने में लगे है कि बालाघाट-सिवनी लोकसभा क्षेत्र का पूरा भाजपा संगठन सांसद बोधसिंह भगत के पक्ष में है। जबकी स्थिति बिल्कुल इसके विपरीत है। जानकारी के अनुसार, भाजपा जिला कार्यकारिणी में लगभग संगठन के 17 मंडल हैं, जिसमें से करीब 15 मंडल बालाघाट विधायक और कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन के साथ खड़े हैं।

गौरी भाउ के समर्थन में भाजपा संगठन के कई मोर्चो के अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य और पार्षद गण आ चुके हैं। ऐसी स्थिति में अगर मौसम हरिनखेडे या गौरी भाऊ के पसंदीदा प्रत्याशी की टिकट काटी जाती है तो भाजपा को निश्चित रूप से बालाघाट-सिवनी संसदीय क्षेत्र से नुकसान उठाना पड़ सकता है, क्योंकि वर्तमान सांसद बोधसिंह भगत की स्थिति इस संसदीय क्षेत्र में विगत कुछ वर्षो में कमजोर हुई है। अगर सांसद भगत को भाजपा यहां से प्रत्याशी भी बना देती है तो इस संसदीय क्षेत्र में जीत के ताले की चाबी गौरीशंकर बिसेन के हाथों में ही रहेगी । फिलहाल तो भाजपा कार्यकर्ताओ और मतदाताओं की नजर भाजपा प्रत्याशी के चयन पर टिकी हुई है। जिसका फैसला जल्द से जल्द होने की उम्मीद है।

पढ़ें: मौत का मार्ग बनता जा रहा है सतना मैहर हाईवे,आए दिन हो रहे हादसे

रिपोर्ट: रितेश सोनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *