Lok Sabha Elections 2019
चुनाव

गौरीशंकर बिसेन का बड़ा बयान, बालाघाट-सिवनी सीट भाजपा हारी तो ले लूंगा राजनीति से संन्यास

बालाघाट। भाजपा प्रत्याशी को लेकर चल रही उठा पटक और असमंजस्य का दौर खत्म हो गया। भाजपा हाई कमान ने वर्तमान सांसद बोधसिंह भगत का टिकट काट दिया है, भाजपा ने इस सीट पर सिवनी-बरघाट के मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार में त्रिविभागीय मंत्री रहे डॉ. ढालसिंह बिसेन को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। इस संबंध में बालाघाट विधायक और पूर्व कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने जिला भाजपा कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़ा जाता है, इसमें प्रत्याशी से ज्यादा महत्व केन्द्रीय मुद्दों का रहता है। इसलिए बोधसिंह भगत की टिकट कटने से भाजपा को कोई नुकसान नहीं होगा। भाजपा इस संसदीय क्षेत्र से 1 लाख वोटों से ज्यादा से जीतेगी।  उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी जिला सिवनी के बरघाट के पूर्व मंत्री डॉ. ढालसिंह बिसेन को उम्मीदवार बनाया गया है, जो चार बार भाजपा से विधायक रह चुके हैं। डॉ. ढालसिंह बिसेन ने बाबूलाल गौर और उमाभारती की सरकार में भाजपा को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया था। वह त्रिविभागीय मंत्री भी रह चुके हैं जिनमें खनिज, वन, परिवहन जैसे प्रमुख विभाग शामिल रहे थे।

ऐसे कद्दावर अनुभवी नेता को टिकट दिए जाने पर केन्द्रीय चयन समिति और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का हार्दिक अभिनंदन करते हैं, और विश्वास दिलाते हैं कि डॉ. ढालसिंह बिसेन को यहां से निर्वाचित करके भेजेंगे।  अब बालाघाट जिले के संगठन की जवाबदारी और बढ़ गई है। इसलिए हमने संगठन के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से बात की, साथ ही सभी को चुनावी कार्य में जुट जाने को कहा है। राष्ट्रीय मुद्दे नरेन्द्र मोदी के पक्ष में है, इसलिए भाजपा को केन्द्र में दो तिहाई बहुमत मिलने की पूरी उम्मीद है। ब्राडगेज जैसे ज्वलंत मुद्दों पर पूर्व कृषि मंत्री ने कहा कि जब मैं सांसद बना, बजट लाया उसके बाद प्रहलाद पटेल 1999 में सांसद बने, तब भी ब्राडगेज के लिए बजट लाए, उसके बाद नरेन्द्र मोदी सरकार ने भी यहां के लिए बजट दिया। कांग्रेस ने 50 वर्षों में ब्राडगेज का काम नहीं किया, बल्कि भाजपा इसे पूरा करा रही है। पूर्व कृषि मंत्री ने कांग्रेस द्वारा नोटबंदी और जीएसटी जैसे उछाले जा रहे मुद्दों पर ज्यादा कुछ भी बोलने से इंकार करते हुए कहा कि इसका जवाब कांग्रेस को दे दिया जाएगा।

भाजपा एक परिवार है, इसमें प्रत्याशी को लेकर कोई विरोध नहीं
सांसद भगत की टिकट काटे जाने पर क्या भाजपा के अंदर विरोध पनपेगा और गुटबाजी बढ़ेगी इस सवाल पर पूर्व मंत्री बिसेन ने कहा कि भाजपा एक परिवार है, इसमें प्रत्याशी को लेकर किसी भी प्रकार के कोई विरोध जैसी स्थिति नहीं है। बालाघाट-सिवनी संसदीय क्षेत्र में सांसद भगत के अलावा मौसम हरिनखेड़े, दिलीप भटेरे, ढालसिंह बिसेन जैसे कई दावेदार थे। अधिकृत प्रत्याशी के चयन का फैसला पार्टी हाईकमान का है, जिसे पूरा भाजपा संगठन सहर्ष स्वीकार करता है। इसके पहले 1999 में मेरी भी टिकट काटकर प्रहलाद पटेल को दी गई थी, तब भी मैंने और पूरे भाजपा संगठन ने बिना विरोध के एक होकर भाजपा को जिताने का काम किया। प्रहलाद पटेल को यहां निर्वाचित करके भेजा था, जबकि वह तो नर्सिंगपुर के रहने वाले थे, और ढालसिंह बिसेन हमारे पड़ोसी जिले बरघाट विधानसभा के हैं, जो बालाघाट-सिवनी लोकसभा क्षेत्र का अंग है। यहां प्रत्याशी को लेकर कोई गुटबाजी नहीं है यह चुनाव विचारधारा की लड़ाई पर लड़ा जाएगा, हां कुछ मनभेद हो सकते हैं लेकिन मतभेद कहीं भी नहीं है।

मधु भगत कांग्रेस के कमजोर प्रत्याशी इसलिए भाजपा की जीत सुनिश्चित है: बिसेन
बालाघाट विधायक और पूर्व कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन पूरे आत्मविश्वास में नजर आए और पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस के मधु भगत कमजोर लोकसभा प्रत्याशी हैं, अभी विधानसभा चुनाव में वह परसवाड़ा से 9 हजार से ज्यादा मतों से हारे हैं, क्षेत्र के बाहर इनका कोई वर्चस्व नहीं है। इसलिए उनकी हार निश्चित है। इस बार कांग्रेस के पूर्व विधायक मधु भगत 1 लाख से ज्यादा मतों से लोकसभा चुनाव हारेंगे। डॉ. ढालसिंह बिसेन भाजपा के मजबूत प्रत्याशी हैं। गुटबाजी के संबंध में उन्होंने कहा कि यहां कोई गुटबाजी नहीं है, जिला भाजपा संगठन का सबसे बड़ा हिस्सा मेरे समर्थन में था फिर भी मौसम को टिकट नहीं मिली, हाईकमान का फैसला सर्वेपरी है जो भाजपा परिवार को स्वीकार्य है, संगठन में कोई विरोध नहीं है। भाजपा पूरी ताकत और जवाबदारी, जिम्मेदारी के साथ चुनाव लड़ेगी और जनता का समर्थन हासिल करेगी।

पढ़ें: गौरीभाऊ को संगठन का साथ, सांसद बोधसिंह भगत निराश, असमंजस में भाजपा हाईकमान

रिपोर्ट: रितेश सोनी

One thought on “गौरीशंकर बिसेन का बड़ा बयान, बालाघाट-सिवनी सीट भाजपा हारी तो ले लूंगा राजनीति से संन्यास”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *