News_Special मनोरंजन

यहां दूल्हा- दूल्हन के शादी होने के बाद इतने दिनों तक नहीं जाते टॉयलेट!

शादी को लेकर सभी धर्म में अलग नियमों को पालन होता है. कहीं पर दूल्हा घोड़ी पर चढ़ने का रिवाज है,तो कहीं पर दुल्हन को पाटे पर लेकर जाया जाता है, लेकिन दुनिया में ऐसा भी मुल्क मौजूद है, जहां पर शादी की एक रस्म है. यहां दूल्हा- दूल्हन के लिए शौचालय जाने पर पूरी तरहे से रोक लगाई जाती है.बता दें कि, ये शादीशुदा जोड़े पर टॉयलेट न जाने की रसम इंडोनिशया में अदा की जाती है. इस रिवाज का चलन टीडॉन्ग समुदाय में प्रचलित है. इस समुदाय के लोग इस नियम को बहुत महत्तपूर्ण समझते हैं, इसलिए वे इसे पूरी संजीदगी के साथ निभाते हैं. तीन दिनों तक है रोक रिवाज के अनुसार दूल्हा- दूल्हन शादी होने के बाद तीन तक टॉयलेट नहीं जाते हैं. ऐसा करना अपशुकन समझा जाता है. स्थानीय समुदाय के अनुसार शादी एक पवित्र समारोह है. टॉयलेट जाने से उनकी पवित्रता भंग होती है. इससे नई नवेली दूल्हन और दूल्हा दोनों ही अशुध्द माने जाते है.

नजर से बचाने की कोशिश इंडोनेशिया में ये रिवाज अदा करने का बड़ी वजह बनी हुई है. टीडॉन्ग समुदाय के लोगों का ये भी मानना है कि नई नवेली दूल्हन को बुरी नजर से बचाना है. समुदाय के मुताबिक, शौचालय को कई लोग इस्मेताल करते हैं. वे शरीर की गंदगी को बाहर निकालते हैं.इसके चलते वहां नकारात्मक शक्तियां होती है. शादी के फौरन बाद टॉयलेट जाने से ही नकारात्मक दूल्हा- दूल्हन में आने की आंशका रहती है. शादी टूटने का खतरा टीडॉन्ग समुदाय के अनुसार, शादी के तुरंत बाद शौचालय का इस्तेमाल करने से नवविवाहित दंपत्ति का रिश्ता खतरे में पड़ सकता है. वहां मौजूद बुराईयां उनमें आ सकती है, जिससे उनके रिश्तों में तल्खी आ सकती है. कई बार तो संबंध टूटने की भी नौबत आ जाती है.

जा सकती है पार्टनर की जान समुदाय के लोगों का मानना है कि शादी के बाद टॉयलेट का इस्तेमाल करना दूल्हा—दुल्हन के लिए घातक हो सकता है। ये उनमें से किसी एक की जान भी खतरे में डाल सकता है। समय रहते ध्यान न देने पर नव दंपत्ति का नया संसार नष्ट हो सकता है। खाने में कटौती नव वर—वधू को टॉयलेट न जाना पड़े इसके लिए उन्हें तीन दिन तक कम खाना—पीना दिया जाता है। समुदाय के लोग इस रस्म कड़ाई से पालन करते हैं। वे ध्यान रखते हैं कि इस रस्म के चलते दूल्हा—दुल्हन को कोई तकलीफ न हो, साथ ही वे शौचालय का इस्तेमाल न करें।

रिपोर्ट -तंजीम राना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *