ASI Ramesh Kumar
INDIA NEWS हरियाणा

हरियाणा के लाल को तिरंगे में लिपटा देख बेहोश हुई पत्नी, एक झलक पाने के लिए उमड़ा जनसैलाब

झज्जर। दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग में सीआरपीएफ पेट्रोलिंग पार्टी पर हुए आतंकी हमले में शहीद रमेश कुमार का अंतिम संस्कार कर दिया गया। हरियाणा के झज्जर के गांव खेड़ी जट्ट के रहने वाले एएसआई रमेश कुमार का पार्थिव शरीर जैसे ही गांव पहुंचा, लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। रमेश कुमार की एक झलक पाने के लिए लोग बेताब दिखाई दिए। रमेश के पार्थिव शरीर को देखते ही पत्नी बेसुध हो गई। शहीद की अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा। इस दौरान तिरंगे में लिपटे पार्थिव शरीर को देखकर हर आंख नम थी। हुजूम भारत माता की जय, जयहिंद और रमेश कुमार अमर ररहे के नारे लगाते हुए चल रहे थे। शाम 6.30 मिनट पर शहीद को मुखाग्नि दी।

जानकारी के अनुसार, रमेश कुमार फरवरी महीने में ही एक माह की छुट्टी काटकर वापस अनंतनाग लौटे थे। वो सीआरपीएफ की 116वीं बटालियन की ब्रावो कम्पनी में तैनात थे। उनके दो बेटे हैं। आपको बता दें कि पहलगाम रोड पर अनंतनाग बस स्टैंड के पास स्थित महिला कॉलेज के पास बुधवार की शाम को बाइक सवार दो आतंकियों ने पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला किया था। आतंकियों ने पहले अंधाधुंध फायरिंग की, इसके बाद ग्रेनेड से हमला कर दिया। फायरिंग में मौके पर ही एक जवान शहीद हो गया। जबकि चार ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया। वहीं, जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने एक आतंकी को मार गिराया। जबकि एक भागने में कामयाब हो गया।

पढ़ें: करोड़ों खर्च हुए फिर भी उचेहरा मंडी नहीं हुई चालू, प्रबंधन पर उठ रहे सवाल

हमले में सीआरपीएफ के दो एएसआई और तीन कांस्टेबल शहीद हुए। चार जवान, अनंतनाग के थाना प्रभारी और एक युवती समेत 6 लोग घायल हो गए। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। हमले की जिम्मेदारी अल-उमर मुजाहिदीन नाम के एक आतंकी संगठन ने ली थी, लेकिन बताया जा रहा है कि इसमें जैश-ए-मोहम्मद का हाथ था।

रिपोर्ट: अमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *