INDIA NEWS हरियाणा

गुरमीत राम रहीम फिर लगेगा झटका, पैरोल की अर्जी हो सकती है खारिज

चंडीगढ़। हत्या और यौन शोषण के आरोप में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बड़ा झटका लग सकता है। राम रहीम की पैरोल की अर्जी खारिज हो सकती है। आपको बता दें कि राम रहीम ने खेतीबाड़ी को आधार बनाते हुए पैरोल मांगी थी, जिसपर आज फैसला आ सकता है। क्योंकि राम रहीम के पास कृषि भूमि ही नहीं है, सारी जमीन डेरा सच्चा सौदा ट्रस्ट के नाम पर है। तहसीलदार की रिपोर्ट के मुताबिक, डेरे के पास कुल 250 एकड़ जमीन है, लेकिन इस जमीन के रिकॉर्ड पर कहीं भी ऐसा जिक्र नहीं है कि राम रहीम इसका मालिक है ऐसे में उन्हें कोर्ट से झटका लग सकता है।

गौर हो कि, पत्रकार की हत्या और साध्वियों से यौन शौषण का दोषी राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में बंद सजा काट रहा है, राम रहीम ने जेल से बाहर आने को लेकर 42 दिनों के पैरोल की अर्जी दी है। राम रहीम को जेल प्रशासन से राहत भरी खबर आई, क्योंकि जेल प्रशासन ने अच्छे व्यवहार के सर्टिफिकेट के साथ हरी झंडी भी दे दी है। लेकिन रेवेन्यू डिपार्टमेंट की रिपोर्ट से उनकी पैरोल पर अड़ंगा लग सकता है।

वहीं हरियाणा पुलिस की खुफिया रिपोर्ट भी राम रहीम की पैरोल के खिलाफ है, पुलिस का मानना है कि अगर राम रहीम को पैरोल दी जाती है तो सिरसा में कानून-व्यवस्था बिगड़ सकती है, यहां भी पंचकूला जैसे हालात बन सकते हैं। अफसर भी मामले में बोलने से बचते हुए दिखाई दे रहे हैं। आपको बता दें कि दो साल पहले साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार देने के बाद पंचकूला में जमकर हिंसा हुई थी। डेरा प्रेमियों ने जमकर उत्पात मचाया था। अर्द्धसैनिक बल और पुलिस की गोली से तीन दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी।

गौर हो कि गुरमीत सिंह को सीबीआई कोर्ट ने 2017 को दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म का दोषी करार दिया था। कोर्ट ने 28 अगस्त को दोनों मामलों में उन्हें 10-10 साल की कैद और 15-15 लाख रुपये जुर्माना लगाया था। साथ ही पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या मामले में भी सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को आजीवन कारावास और 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था।

रिपोर्ट: अमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *