INDIA NEWS

कोलकाता: जनसभा में बोले शाह- ‘अबकी बार दुर्गा पूजा रोकी तो BJP कार्यकर्ता सचिवालय की ईंट से ईंट बजा देंगे’

कोलकाता: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को पश्चिम बंगाल के दौरे पर रहे। उन्होंने कोलकाता में जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि रैली की इतनी भीड़ से संकेत मिल गए हैं कि पश्चिम बंगाल से ममता बनर्जी का शासन खत्म होने जा रहा है।

सीधे हमला बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि पहले इस रैली को रोकने की कोशिश की गई। अब पश्चिम बंगाल के सारे स्थानीय चैनलों को डाउन कर दिया गया है। ताकि लोग इस रैली का प्रसारण ना देख पाएं।

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी पश्चिम बंगाल की विरोधी कैसे हो सकती है, हमारी तो पार्टी के संस्थापक श्यामा प्रसाजद मुखर्जी भी बंगाल से ही थे।

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी बंगाल विरोधी नहीं, सीएम ममता की विरोधी है। अमित शाह ने इस दौरान राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी या राहुल गांधी की कोशिशों से एनआरसी की प्रकिया नहीं रुकेगी, एनआरसी घुसपैठियों को भगाने के लिए है।

अमित शाह ने कहा कि असम में न्यायिक तरीके से इसे लागू किया जाएगा। पहले घुसपैठियों का वोट कम्युनिस्ट पार्टियों को मिलता था तो ममता बनर्जी घुसपैठियों का विरोध करती थीं, लेकिन जबसे उन्हें ये वोट मिलने लगे तो अब वह एनआरसी का विरोध कर रही है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि एनआरसी को असम अकॉर्ड के तहत बनाया गया है, जो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने किया था। तब कांग्रेस ने इसका विरोध नहीं किया था।

अमित शाह ने कहा कि आज कांग्रेस वोटबैंक के लिए इसके विरोध में है। अमित शाह ने कहा कि ममता सरकार जब से आई है, चारों तरफ भ्रष्टाचार हो रहा है।

कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं, कारखाने बंद हो रहे हैं, यहां तो बस बम बनाने के कारखाने खुल रहे हैं, अपराध के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं।

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार आई तो ईमानदार, सख्त कानून व्यवस्था वाली होगी। उन्होंने कहा कि दुर्गा पूजा के दौरान दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन बंद कर दिया गया, स्कूलों में सरस्वती पूजा रोक दी गई।

अगर बीजेपी की सरकार आई तो हर हाल में इन्हें किया जाएगा। शाह ने कहा कि अगर अगली बार दुर्गापूजा को रोका गया तो भाजपा के कार्यकर्ता ममता बनर्जी के सचिवालय की ईंट से ईंट बजा देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *