Corona in delhi
इंडिया न्यूज़ दिल्ली

दिल्ली में नई गाइडलाइन: सभी निजी दफ्तरों पर तालाबंदी, रेस्टोरेंट-बार भी रहेंगे बंद

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर लगातार जारी है। देश की राजधानी दिल्ली में रोजाना नए मामलों में इजाफा होता जा रहा है। बेलगाम हुए कोरोना को लेकर डीडीएमए ने राजधानी दिल्ली में और सख्ती बढ़ाई है, यानि कुछ और पाबंदियां लगा दी हैं।

मंगलवार सुबह डीडीएमए (DDMA) ने नए संशोधित दिशानिर्देश जारी किए, इसके तहत दिल्ली में निजी दफ्तर (All private offices) पूरी तरह से बंद रहेंगे और कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे। रेस्टोरेंट और बार आदि भी बंद रहेंगे, हालांकि होम डिलीवरी सेवा जारी रहेगी।

डीडीएमए की नई गाइडलाइन
दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के निर्देश के अनुसार, दिल्ली के वो सभी निजी दफ्तर जो गैर-जरूरी सेवाओं से जुड़े हैं वह पूरी तरह से बंद रहेंगे। वहां का कार्य वर्क फ्रॉम होम के नियम के अनुसार होगा। जो दफ्तर जरूरी सेवाओं से जुड़े हैं सिर्फ वही खुले रहेंगे।

सभी रेस्टोरेंट और बार भी बंद रहेंगे। यहां आकर बैठकर खाना नहीं खाया जा सकेगा। हालांकि रेस्टोरेंट को यह इजाजत रहेगी कि वह होम डिलीवरी और टेक अवे की सेवाएं देते रहें।

वहीं, अगर कोई शख्स नियमों का उल्लंघन करेगा तो वह आपदा प्रबंधन एक्ट 2005 के सेक्शन 51-60 और आईपीसी की धारा 188 का दोषी होगा और इन्हीं धाराओं के तहत उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1,68,063 नए मामले आए, 69,959 रिकवरी हुईं और 277 लोगों की कोरोना से मौत हुई है।

कुल मामले: 3,58,75,790
सक्रिय मामले: 8,21,446
कुल रिकवरी: 3,45,70,131
कुल मौतें: 4,84,213
कुल वैक्सीनेशन: 1,52,89,70,294

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में प्रीकॉशन डोज़ की कल कुल 9,84,676 डोज़ लगाई गईं जिसमें से हेल्थकेयर वर्कर्स को 5,19,604, फ्रंटलाइन वर्कर्स को 2,01,205 और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को 2,63,867 प्रीकॉशन डोज़ लगाई गईं।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 156.71 करोड़ से ज़्यादा डोज़ उपलब्ध कराई गई है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी वैक्सीन की 17.11 करोड़ से ज़्यादा डोज़ उपलब्ध हैं।

यह भी पढ़ें: हरियाणा के मेवात में दर्दनाक हादसा, मिट्टी ढहने से चार लड़कियों की दबकर मौत, एक घायल

रिपोर्ट: अमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published.