INDIA NEWS ट्रेंङिग

राफेल सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का बड़ा खुलासा, ‘भारत सरकार के कहने पर रिलायंस को पार्टनर बनाया’

नई दिल्ली। राफेल विमान सौदे में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांदे ने बड़ा खुलासा किया है। पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांदे खुलासे से भारत की राजनीति में सियासी घमासान मच गया है।

ओलांद ने बयान जारी करके कहा है कि राफेल सौदे के लिए ऑफसेट पार्टनर के रूप में उन्होंने रिलायंस डिफेंस यानी अनिल अंबानी को नहीं चुना था, बल्कि भारत सरकार के कहने पर उन्हें चुना गया था।

ओलांद इसका खुलासा फ्रांसीसी न्यूज वेबसाइट को दिए एक इंटरव्यू दौरान किया। आपको बता दें कि जिस वक्त भारत और फ्रांस के बीच राफेल विमान को लेकर सौदा हुआ था, उस समय ओलांद ही फ्रांस के राष्ट्रपति थे।

पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांदे के बयान के बाद रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया और कहा कि ओलांद के बयान की पुष्टि की जा रही है।
मंत्रालय ने लिखा कि ‘एक बार फिर से दोहरा दें कि राफेल विमान के वाणिज्यिक निर्णय पर न तो भारत सरकार और न ही फ्रांस सरकार को कुछ कहना था।

आपको बता दें कि राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर आरोप लगाकर घेर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि केंद्र सरकार के कहने पर एचएएल से डील रद्द की गई और फिर अनिल अंबानी की कंपनी को दिलवाई गई।

फ्रांस्वा ओलांद का बयान भी इसी आरोप को समर्थन कर रहा है। ऐसे में कांग्रेस अब राफेल के मामले को लेकर और ज्यादा हमलावर हो जाएगी।

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति के बयान के बाद कांग्रेस ने ट्वीट किया और कहा कि सरकार के झूठ का पर्दाफाश हो गया है। साफ है कि भारत ने ही रिलायंस को पार्टनर बनाने के लिए फ्रांस पर दबाव डाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *