Kamlesh tiwari murder case
इंडिया न्यूज़ उत्तर प्रदेश

कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले हत्यारे गिरफ्तार, गुजरात एटीएस की बड़ी सफलता

लखनऊ। कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) में गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) की बड़ी कामयाबी मिली है। कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों हत्यारों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया गया है। मोइनुद्दीन और अशफ़ाक़ ने जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपियों के पास पैसे खत्म हो गए थे, इसलिए दोनों आरोपियों ने परिवारवालों से संपर्क किया था। संपर्क सूत्र मिलते ही गुजरात ATS ने दोनों को दबोच लिया।

सोमवार को हत्यारे यूपी के शाहजहांपुर में सीसीटीवी में कैद हुए थे। जैसे ही पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को सूचना मिली, तो होटल और मुसाफिरखानों में ताबड़तोड़ छापेमारी की, लेकिन दोनों उससे पहले ही फरार हो गए। एसटीएफ ने कुछ जगह के सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में लिए। वहीं, जांच में सामने आया था कि आरोपी नेपाल बार्डर पार करना चाहते थे लेकिन सुरक्षा कड़ी होने के चलते दोनों शाहजहांपुर लौट आए थे। इसके बाद फिर से गायब हो गए थे।

वहीं, कमलेश तिवारी हत्याकांड के साजिशकर्ताओं की भी कोर्ट में पेशी हुई है। तीनों साजिशकर्ताओं को लखनऊ पुलिस ने सीजेएम की कोर्ट में पेश किया। तीनों साजिशकर्ता चार दिन की रिमांड में भेजे गए। आपको बता दें कि सूरत से पकड़े गए साजिशकर्ता फैजान, राशिद पठान और मौलाना मोहसिन शेख को चार दिन की कस्टडी रिमांड पर भेजा गया है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को लखनऊ में नाका के खुर्शीदबाग की तंग गलियों में रहने वाले हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की बेरहमी से हत्या का मामला सामने आया था। बदमाश मिठाई के डिब्बे में पिस्टल और चाकू छिपाकर कमलेश के दफ्तर पहुंचे थे। वहां उन्होंने कमलेश की गर्दन पर पहले गोली मारी थी, इसके बाद फिर चाकू से ताबड़तोड़ 14 वार किए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.