INDIA NEWS

कंधों पर साईकिल रखकर पार कर रहे रेल की पटरी- 5 साल में नहीं बना एलएचएस

कटंगी। कटंगी-बालाघाट से गोंदिया ब्राडगेज रेल लाईन पर कटंगी से सेलवा की ओर जाने वाले मुख्य मार्ग पर 5 साल बाद भी पुल के नीचे भूमि की पगडंडी (एलएचएस) नहीं बन पाई है. जिस कारण प्रतिदिन सैकड़ों राहगीरों, स्कूली छात्र-छात्राओं को लंबे सफर से बचने के लिए अपने कंधों पर साईकिल उठाकर रेल की पटरियां पार करनी पड रही है। जिससे उनके साथ हमेशा दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है. दरअसल, बसपा नेता उदयसिंह पंचेश्वर ने 5 दिसबंर 2013 को रेल विभाग को एक पत्र लिखकर उक्त स्थान पर अंडरब्रिज बनाने की मांग की थी तथा मांग पूरी नहीं होने पर क्रमिक धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी थी. जिसके बाद द.पू.म.रे. मंडल अभियंता (उत्तर) ने 11 जनवरी 2013 को पत्र का जवाब देते हुए कहा था कि रेलवे स्टेशन यार्ड होने से लाईनों की संख्या ज्यादा होने के कारण अंडरब्रिज बनाना संभव नहीं है लेकिन लेवल क्रांसिग बी.के.-64 1088/1-2 पर एलएचएस बनाया जाएगा. वहीं स्टेशन इमारत से 50 मीटर की दूरी पर ब्रिज क्रंमाक 138 के नीचे से आवागमन की व्यवस्था की जाएगी. लेकिन 5 साल का लंबा अंतराल बीतने के बाद भी रेल विभाग ने इस मामले में कोई सुध नहीं ली है. बसपा नेता ने पुन: रेल अधिकारियों एवं सांसद का इस ओर ध्यानाकर्षण कराया है तथा मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
गोंदिया से कटंगी नैरोगेज के दौरान उक्त स्थान पर एक लाईन होने से राहगीर, छोटे-बडे सभी वाहन बडी ही आसानी से कटंगी से सेलवा के बीच आना-जाना करते थे लेकिन बाडग्रेज बनने के बाद यहा पटरियों की संख्या बढ़ गई और अंडरब्रिज भी नहीं बनाया गया. जिससे राहगीरों को दिक्कत होने लगी हालाकिं रेल विभाग ने आवागमन के लिहाज से एक पक्का मार्ग बनाया पंरतु पैदल तथा साईकिल से चलने वाले राहगीर इस मार्ग पर 2 से 3 किमी. का फेरा अधिक होने के कारण उसका उपयोग नहीं करते तथा पटरियां लांघ कर आते-जाते है. इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए बसपा नेता ने रेल विभाग को पत्र लिखा था तदोपंरात रेल विभाग ने पैदल तथा साईकिल से चलने वाले राहगीरों की समस्या का समाधान करने का जिक्र करते हुए पुल के नीचे भूमि की पगडंडी बनाने का आश्वासन दिया था जो आज तक अधूरा है।
इस मार्ग से सेलवा, बडगांव, आगरवाडा, नंदलेसरा, सीताखोह, सांवगी, कलगांव, बाहकल, गजपूर, टटेकसा सहित अन्य दर्जनों गांवों के लोग एवं छात्र-छात्राएं मुख्यालय में शिक्षा अर्जित करने तथा दैनिक मजदूरी के लिए आते है जिन्हें परेशानी का सामना करना पड रहा है. इन तमाम गांवों के लोगों ने एलएचएस को तैयार करने की मांग की है. ज्ञात हो कि आगामी समय में चुनाव होने वाले है ऐसे में ग्रामीण नेताओं पर दबाव बनाकर जल्द ही एलएचएस बनाना चाहते है जबकि सूत्रों की माने तो कुछ गांवों के लोग इस समस्या को लेकर आंदोलन की तैयारी भी कर चुके है तथा मांग पूरी नहीं होने पर मतदान का विरोध कर सकते है. बहरहाल अब यह आने वाला वक्त बताएगा कि रेलवे राहगीर एवं विद्यार्थियों को होने वाली दिक्कत को समझकर एलएचएस तैयार करता है या फिर ग्रामीण चुनाव में मतदान का बहिष्कार करते है।
इनका कहना है-
बसपा रेल विभाग को पहले भी पत्र लिख चुका है हमें आश्वासन मिला था लेकिन पूरा नहीं किया गया है ग्रामीणों के साथ बैठकर अब रणनीति तैयार की जाएगी. मांग पूरी नहीं हुई तो ग्रामीणों के साथ प्रदर्शन किया जाएगा।
उदयसिंह पंचेश्वर
बसपा नेता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *