kanpur News
इंडिया न्यूज़ उत्तर प्रदेश

Kanpur Ring Road: उत्तर भारत की पहली छह लेन की होगी कानपुर की रिंगरोड, जानिए क्या है खास

कानपुर रिंग रोड निर्माण की कवायद तेज हो गई है। एनएचएआई ने दो और हिस्से यानी सेक्टर में जमीन अधिग्रहण के लिए थ्री स्माल ए का नोटिफिकेशन कर जिम्मेदार अधिकारी नामित कर दिया। 3 कैपिटल ए का गजट होने के बाद जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू हो जाएगी।

यह 15 अगस्त तक होने की संभावना है। मंधना से सचेंडी (पहला सेक्टर) के लिए अधिग्रहण शुरू कर दिया गया है। 93.2 किलोमीटर की रिंग रोड को चार सेक्टर में बांटा है। पहला मंधना-सचेंडी, दूसरा मंधना-आटा (उन्नाव), तीसरा आटा उन्नाव-गंगा पुल होते हुए रूमा और चौथा सेक्टर सचेण्डी-रमईपुर-रूमा में बांटा गया है। एनएचएआई ने रिंग रोड के बचे तीन सेक्टरों का एलाइनमेंट भी मुख्यालय भेज दिया है।

अधिकारी नामित होते ही एनएचएआई ने सचेंडी से रूमा और मंधना से आटा उन्नाव के बीच प्रस्तावित रिंग रोड के एलाइनमेंट के आसपास जमीन ब्रिकी पर रोक लगा दी है।

एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर प्रशांत दुबे ने बताया कि नामित अधिकारी की औपचारिकता पूरी है। तीसरे सेक्टर का भी जल्द नोटिफिकेशन किया जाएगा। जमीन अधिग्रहण का गजट किया जाएगा। रिंग रोड का निर्माण 2026 में पूरा हो जाए।

छह लेन की होगी कानपुर की रिंगरोड
वहीं, कानपुर की रिंगरोड छह लेन की होगी। उत्तर भारत की यह पहली रिंगरोड होगी, जो चार की बजाए छह लेन की बनेगी। रिंगरोड बनने के बाद कानपुर की यातायात व्यवस्था सुगम होगी। साथ ही जाम से मुक्ति मिल जाएगी। कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने कहा कि विशेष प्रयास के बाद 6 लेन पर सहमति मिली है। रिंग रोड में पूरी लंबाई में रोड स्टड एलईडी ब्लिंकिंग लाइट लगेगी।

परियोजना निदेशक कन्नौज प्रशांत ने बताया की भूमि से संबंधित 3डी की कार्रवाई 15 अगस्त तक पूरी हो जाएगी। निर्माण मार्च 2023 में शुरू करने की तैयारी की जा रही है। भूमि अधिग्रहण और निर्माण कार्य में कोई बाधा न आए, इसके लिए जिलाधिकारी कानपुर नगर की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई।

अपर जिलाधिकारी देहात, कन्नौज, उन्नाव और मुख्य अभियंता लोकनिर्माण कानपुर, ट्रांसमिशन विभाग, मुख्य अभियंता सिंचाई व मुख्य वन संरक्षक वन कानपुर मंडल हैं। कमिश्नर ने बताया कि दादानगर समानांतर सेतु का काम जल्द शुरू होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.