illegal mining
News_Special मध्य प्रदेश

बालाघाट में रेत माफिया की आई शामत, वन विभाग ने तेज की मुहिम

बालाघाट। वन सीमा से होकर गुजरने वाली नदियों और नालों से लगातार रेत की अवैध उत्खनन और परिवहन की शिकायतें मिल रही थी, जिसमें वन विभाग के कर्मचारियों की भी शामिल होने की बातें कही जा रही थीं। जिसे गंभीरता से लेते हुए उत्तर वन मंडल के बैहर पूर्व वन परिक्षेत्र के वनपरिक्षेत्राधिकारी डीएस धुर्वे द्वारा वन अमले को लेकर एक विशेष गस्तीदल बनाया गया।

इस गस्ती दल द्वारा वन परिक्षेत्र पूर्व के वन क्षेत्रों के नदी नालों पर लगातार नजर रखते हुए वन क्षेत्र के अंतर्गत प्रतिदिन गस्त की जा रही है, इसके साथ ही टीम बनाकर अलग-अलग ठिकानों में भी दबिश दी जा रही है। वन विभाग के हरकत में आने के बाद अवैध रेत कारोबारियों की नींद उड़ गई है। उल्लेखनीय है कि पूर्व वन परिक्षेत्र बैहर रेंज के अंतर्गत अवैध खनन के लगातार शिकायतें मिल रही थी जिसे संज्ञान में लेते हुए वन परिक्षेत्राधिकारी डीएस धुर्वे द्वारा गठित टीम जंगल में गस्त कर रेत के अवैध उत्खनन पर कार्रवाई कर रही है।

जिसमें पूर्व बैहर टीम को दो बडी सफलता मिली है। गस्ती के दौरान मोहगांव बीट में रेत का अवैध परिवहन करते हुए एक रेत भरी ट्रैक्टर ट्रॉली जप्त कर मामला दर्ज किया गया है। इसी कड़ी में गस्तीदल की तरफ से बीजाटोला बीट में भी ट्रैक्टर ट्रॉली समेत रेत का अवैध परिवहन करते हुए मामला दर्ज किया गया है। वन क्षेत्रों से अवैध रेत उत्खनन रोकने के लिए बनाई गई वन अमले की टीम लगातार गस्त करते हुए रेत माफिया पर भी नजर रख रही है।

रिपोर्ट: रितेश सोनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *