plantation world record
INDIA NEWS मध्य प्रदेश

शिवराज सरकार में पौधरोपण में हुआ बड़ा घोटाला, वर्ल्ड रिकॉर्ड के दावे की वन मंत्री ने खोली पोल

मध्य प्रदेश में पौधरोपण में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए सात करोड़ पौधे लगाने का दावा की पोल खुल गई है। कांग्रेस ने इसे सबसे बड़ा घोटाला करार दिया है। मंत्री की कार्रवाई के बाद इसका खुलासा हुआ है। साल 2007 में पौधरोपण में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए तत्कालीन भाजपा सरकार ने सात करोड़ पौधे लगाने का दावा किया था। भाजपा सरकार ने इसको लेकर जमकर वाहवाही लूटी थी। कांग्रेस ने शुरू से ही इसे बड़ा घोटाला करार दिया था।

अब इस वर्ल्ड रिकॉर्ड की पोल मध्यप्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार ने खोल दी है।

दरअसल, जंगल में पौधे गिरने की जानकारी पर मध्यप्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार  26 जून को अचानक बैतूल पहुंचे। यहां उन्होंने दो डीएफओ समेत आठ वन कर्मियों पर कार्रवाई की। मुख्यालय भेजी गई रिपोर्ट पर वन मंत्री ने कहा कि रिपोर्ट पर भरोसा नहीं हो रहा था। रिपोर्ट के बाद हमने तकनीक का सहारा लिया और असलियत जानने के लिए मौके पर भी गए, तभी इस घोटाले का खुलासा हुआ।

डीएफओ-एसडीओ रेंजर पर हुई कार्रवाई
वन मंत्री उमंग सिंघार ने वनकर्मियों के साथ अपने प्रतिनिधियों को रखकर सत्यापन किया। इसके बाद उत्तर वन मंडल के तत्कालीन डीएफओ संजीव झा, वर्तमान डीएफओ राखी नंदा, एसडीओ बीपी बथमा को कारण बताओ नोटिस जारी किया और वन मुख्यालय अटैच कर दिया है। वहीं शाहपुर रेंज के तात्कालीन रेंजर गुलाब सिंह बर्डे, वर्तमान रेंजर जीएस जाटव, वनपाल मूलचंद परते, फिरोज खान और नाकेदार सतीश कवड़े को निलंबित किया गया है।

रिपोर्ट: अमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *