पौधारोपण
News_Special मध्य प्रदेश

विदिशा में बड़े पैमाने पर पौधारोपण अभियान की शुरुआत, जिले में एक लाख पौधे लगाने का लक्ष्य

विदिशा। लगातार शहर में विकास के नाम पर चल रही पेड़ों की कटाई से शहरवासी आक्रोशित हैं, इसको लेकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों, जिला प्रशासन और सामाजिक संस्थाओं के लोगों ने अब आगे बढ़कर शहर में कोई पेड़ नहीं काटने का मन बनाते हुए नई कलेक्ट्रेट यानी कंपोजिट भवन से बड़े पैमाने पर पौधारोपण की शुरुआत कर दी है। यहां पर्यावरण पर प्रतिदिन काम करने वाली संस्था मुक्ति धाम सेवा समिति ने भी बीड़ा उठाया है, उसी के तहत फॉरेस्ट विभाग नगर पालिका विभाग और जिला प्रशासन के सहयोग से पौधारोपण कार्य किया गया। विदिशा कलेक्टर के मुताबिक, शहर में 10 हजार और जिले में 1 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है।

आपको बता दें कि विकास के नाम पर शहर में जबरदस्त पेड़ काटने को लेकर लोग आक्रोशित थे इसको लेकर को सामाजिक संस्थाएं पर्यावरण के क्षेत्र में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही थीं, आज इसकी शुरुआत बहुत बड़े पैमाने पर ग्रीन विदिशा मूवमेंट के तहत की गई है, जिसमें शहर के विधायक शशांक भार्गव, नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश टंडन, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, एडीएम जिला प्रशासन के लोग बीएफ पूरा फॉरेस्ट का अमला समेत शहर की सभी सामाजिक संस्थाओं और पर्यावरण प्रेमियों ने सुबह की शुरुआत सैकड़ों की तादाद में पौधा रोपित कर की। सभी नया संकल्प लिया की बहुत आवश्यक होगा तभी विकास के नाम पर पौधे काटे जाएं, अन्यथा उन्हें बचाने की मुहिम अब जनता जनार्दन करेगी। कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में विभिन्न धर्मों के धर्मा भी मौजूद थे।

विदिशा कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रमसिंह ने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से और इसके अलावा महत्वपूर्ण एनजीओ सामाजिक संगठन के लोग उनके सहयोग से यह कोशिश हो रही कि विदिशा शहर को हरा-भरा किया जाए। इसी संदर्भ में आज कलेक्ट्रेट में वृक्षारोपण का कार्यक्रम था और यहां पर वृक्ष लगाए गए हैं अभी कलेक्ट्रेट नया शिफ्ट हुआ है इसलिए पेड़ पौधों की बहुत कमी है उसी कमी को दूर करने के लिए आप सभी के सहयोग से काम हो रहा है शहर में कम से कम 10000 पौधे लगाने की योजना है। पूरे जिले में हम लोग यह कोशिश कर रहे हैं कि एक लाख पौधे ग्रामीण क्षेत्रों शहरी क्षेत्रों में लगाए।

रिपोर्ट: ओम प्रकाश जोशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *