Laxmikant sharma
News_Special ट्रेंङिग मध्य प्रदेश

भाजपा के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा और श्वेता स्वप्निल जैन का अश्लील वीडियो वायरल, मस्ती करते दिखे

भोपाल। प्रदेश के नेताओं और अफसरों को हिला देने वाला हनी ट्रैप का जिन्न एक बार फिर से बाहर आ गया है। भाजपा सरकार में मंत्री रहे लक्ष्मीकांत शर्मा का कथित ऑडियो और वीडियो सामने आने से सियासी गलियारों में हड़कंप मच गया है। वीडियों में लक्ष्मीकांत हनी ट्रैप मामले की आरोपी श्वेता स्वप्निल जैन के साथ मस्ती कर रहे हैं। आरोपी श्वेता स्वपनिल जैन के साथ मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा बंद कमरे में आपत्तिजनक हालत में दिखाई दे रहे हैं। वीडियो को किसी कमरे में शूट किया गया है।

श्वेता के हुस्न की नुमाइंदगी पर लक्ष्मीकांत शर्मा लट्टू हो रहे हैं। आपको बता दें कि यह वहीं लक्ष्मीकांत शर्मा है जो व्यापमं घोटाले में आरोपी रहे हैं। शुरुआती जांच में पता चला है कि लक्ष्मीकांत शर्मा जब जेल से छूटकर बाहर आए थे, उसके बाद का यह वीडियो है। वायरल वीडियो और फोटो में श्वेता स्वपनिल जैन पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के साथ आपत्तिजनक हालत में हैं। वीडियो को जरिये पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को भी श्वेता स्वपनिल जैन ब्लैकमेल किया था। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यह वीडियो कहां से वायरल हुआ है, और किसने वायरल किया।

यह भी पढ़ें: UPPRPB Result 2019: यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक

आपको बता दें कि हनी ट्रैप मामले की जांच एसआईटी कर रही है, लेकिन, अब तक कोई बड़ा खुलासा नहीं हुआ है। ऐसे में तमाम सख्ती के बावजूद यह वीडियो वायरल हुआ है। सूत्रों के मुताबिक, लक्ष्मीकांत शर्मा का वीडियो कैसे वायरल हुआ, इसकी जांच की जा रही है।

आपको बता दें कि 19 सितंबर 2019 को इंदौर से पुलिस ने पांच महिलाओं के साथ उनके कार के ड्राइवर को गिरफ्तार कर गिरोह का पर्दाफाश किया। इन महिलाओं ने इंदौर के एक इंजीनियर का अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल किया। वीडियो के बदले इंजीनियर से तीन करोड़ रुपये की मांग की थी, पुलिस ने पूरे मामले की गहराई तक जांच की तो सामने आया कि महिलाएं मध्यप्रदेश के कई जिलों में सेक्स रैकेट चलाती थीं। नेताओं और बड़े-बड़े अधिकारियों को लड़कियां सप्लाई करती थीं, इसके बाद वीडियो बनाकर नेताओं-अफसरों को ब्लैकमेल करती थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *