Narcotics Drugs
News_Special मध्य प्रदेश

पुलिस कंट्रोल रूम में NDPS एक्ट को लेकर हुई बैठक, अधिकारियों ने विस्तार से दी जानकारी

विदिशा। पुलिस कंट्रोल रूम में Narcotics Drugs And Psychotropic Substances Act (NDPS एक्ट) और Smugglers And Foreign Exchange Manipulators Act (साफेमा एक्ट) के संबंध में अध्याय 5a और वित्तीय अनुसंधान के संबंध में एक दिवसीय प्रशिक्षण सेमिनार आयोजित किया गया। जिसमें भारत सरकार के वित्त मंत्रालय अंतर्गत राजस्व विभाग मुंबई के एडिशनल कमिश्नर आर.एन डिसूजा (भारतीय राजस्व सेवा) पुलिस अधीक्षक विनायक वर्मा (भारतीय पुलिस सेवा) अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक केएल बंजारे और रत्नेश श्रीवास्तव निरीक्षण अधिकारी मुम्बई, जिले के राजपत्रित अधिकारी, पुलिस थाना प्रभारी, सभी थानों के विवेचक आदि उपस्थित हुए सेमिनार के प्रारंभ में पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा माननीय अतिथियों का स्वागत किया गया।

इसके बाद पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा सभी विवेचकों को NDPS एक्ट के अंतर्गत की जाने वाली कार्रवाई के विषय में प्रशिक्षण दिया गया। मादक पदार्थ के अपराध में कौन-कौन सी सावधानी बरतना चाहिए। उस विषय में बताया गया और मादक पदार्थ के आरोपियों के द्वारा अवैध तरीके से ड्रग के पैसों से अर्जित की हुई संपत्तियों के बारे में पता करने के निर्देश दिए गए।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा जिले में मादक पदार्थों के अपराधों की जानकारी दी गई और सभी विवेचक को अधिक से अधिक मादक पदार्थों पर कार्रवाई करने के निर्देश प्रदान किए गए। प्रशिक्षण में मुंबई से आए आर.एन. डिसूजा ने मादक पदार्थों की तस्करी और मादक पदार्थ विक्रय से प्राप्त धनराशि से बनाई गई संपत्ति को किस प्रकार से जप्त करें। उसे किस प्रकार से विक्रय कर शासन के राजस्व में वृद्धि करें। इस विषय पर सूक्ष्म प्रशिक्षण दिया गया। मादक पदार्थ के तस्करों की संपत्ति की तह तक कैसे पहुंचे उनके द्वारा काली कमाई से बनाई गई संपत्ति का निर्धारण कैसे करें उक्त विषय पर प्रकाश डालते हुए प्रशिक्षण दिया गया।
रिपोर्ट: ओम प्रकाश जोशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *