krishna janmashtami 2019
News_Special धर्म

जन्माष्टमी पर बन रहा जयंत योग का संयोग, इस मुहूर्त में पूजन बेहद शुभकारी

22 वर्ष बाद 23 अगस्त को जयंत योग में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। इसके लिए राधा-कृष्ण मंदिरों में तैयारियां शुरू हो गईं हैं। भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्र पद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। ज्योतिषाचार्य व पं. नरेंद्र दीक्षित ने बताया कि विश्व पंचांग के मुताबिक इस बार 23 अगस्त की रात्रि 11:55 बजे रोहिणी नक्षत्र, चंद्रोदय एवं अष्टमी का मिलन हो रहा है।

इससे जयंत महायोग बन रहा है, जो सदी में कभी-कभी ही बनता है। इस बार यह संयोग 22 वर्ष बाद पड़ रहा है। इस योग में भगवान कृष्ण की उपासना, भजन, भक्ति और ऊं नमो भगवते वासुदेवाय नम: मंत्र का जाप उत्तम रहेगा। इससे विद्यार्थियों को विद्या, कन्याओं को सुंदर पति, व्यापारियों को विशेष लाभ एवं गृहस्थजनों को सुख-शांति की प्राप्ति होगी। जयंत योग केकारण सभी जगह विजय प्राप्त होगी।

बताया कि भगवान श्रीकृष्ण का जन्म 5247 वर्ष पूर्व हुआ था। इस बार 5248वां जन्मदिवस 23 अगस्त को मनाया जाएगा। 23 अगस्त को सप्तमी सुबह 8:09 तक है। इसके बाद अष्टमी होगी जो 24 अगस्त की सुबह 8:32 बजे तक है।

रिपोर्ट: एसएस पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *