Dehradun Murder
उत्तराखंड स्पेशल न्यूज़

जांच में चौंकाने वाला खुलासा, स्वाति ने मां की थी आखिरी कॉल, पढ़ें क्या है पूरा मामला

देहरादून। उत्तराखंड (Uttarakhand) की राजधानी देहरादून (Dehradun) से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। नेहरू कॉलोनी थाना इलाके में महिला (Husband Murdered Wife) की हत्या से सनसनी फैल गई। हत्या का कारण आर्थिक तंगी बताया जा रहा है। पुलिस ने हत्या के आरोप में उसके पति को हिरासत में ले लिया है। पुलिस मामले में कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है। मृतका के पिता ने रविवार देर शाम दामाद के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया है।

यह भी पढ़ें: दर्दनाक सड़क हादसा: ई बस ने आधा दर्जन वाहनों को रौंदा, छह की मौत, कई घायल

जानकारी के अनुसार, यूपी के कुशीनगर के भुलन छपरा का रहने वाला सौरभ 12 साल से राजधानी देहरादून में रहकर काम कर रहा था। सौरभ अपनी पत्नी स्वाति (28), छह साल की बेटी और 10 महीने के बेटे के साथ डिफेंस एनक्लेव के निकट किराये के मकान में रहता था। शनिवार रात वह अपनी पत्नी की हत्या कर फरार हो गया।

कोरोना की पहली लहर में बर्दाद हुआ सौरभ का कारोबार
जानकारी मिली है कि कोरोना की पहली लहर में सौरभ का कारोबार बर्बाद हो गया, कोरोना से राहत मिलने पर उसने नौकरी करना शुरू कर दिया, कुछ दिन बाद दूसरी लहर आई गई तो उसमें उसकी नौकरी भी छूट गई। सौरभ की बहन की शादी पिछले साल हुई थी, सौरभ ने इसके लिए कर्ज लिया था।

यह भी पढ़ें: दर्दनाक सड़क हादसा: ई बस ने आधा दर्जन वाहनों को रौंदा, छह की मौत, कई घायल

काम धंधा न होने की वजह से वह घर का खर्च चलाने में दिक्कतें आ रहीं थीं, इस वजह से वह पड़ोसी और दोस्तों से कर्ज लेकर गुजर बसर कर रहा था। पत्नी स्वाति भी सौरभ से कुछ पैसे मांग रही थी, वह पैसों नहीं दे पा रहा था।

स्वाति ने मां को किया था फोन
बताया जा रहा है कि मरने से पहले स्वाति ने अपनी मां को फोन किया था। हालांकि यह पचा नहीं चल पाया कि उसने अपनी मां से आखिरी शब्द क्या कहा था। पुलिस अभी स्वाति की मां के बयान दर्ज करेगी, तभी इसका खुलासा होगा कि स्वाति ने अपनी मां से क्या कहा था।

स्वाति और सौरभ की शादी लव कम अरेंज
आपको बता दें कि स्वाति और सौरभ की शादी लव कम अरेंज हुई थी। सीओ अनिल जोशी के अनुसार, वह स्वाति को शादी से पहले पसंद करता था। पूछताछ में पुलिस पता लगा है कि सौरभ आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। बीते तीन महीने से उसने अपने मकान का किराया भी नहीं चुकाया था। उसने पड़ोसी से साढ़े सात हजार रुपये भी उधार लिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.