tv
News_Special technology

दर्शकों पर पड़ेगी महंगाई की मार, टीवी देखना होगा महंगा, पढ़ें कितने बढ़ेंगे दाम ?

नई दिल्ली। टीवी देखने वाले दर्शकों के लिए बुरी खबर है, अब 29 दिसंबर से आपका टीवी देखना महंगा हो जाएगा। देश के सबसे बड़े टीवी ब्रॉडकास्टर जी और केबल कंपनी हैथवे ने अपनी प्राइस लिस्ट का एलान कर दिया है। जी ने अपने चैनलों के पैकेज की घोषणा कर दी है। जी का शुरुआती पैकेज 45 रुपये प्रति महीने से शुरू होकर अधिकतम कीमत 105 रुपये प्रति महीना होगा। 45 रुपये के पैकेज में आप एचडी और प्रीमियम चैनलों का मजा नहीं ले पाएंगे। अगर आपका टीवी एचडी है तो फिर इसके लिए 105 रुपये खर्च करने होंगे, 105 वाले पैकेज में आप सिर्फ 25 चैनलों का मजा ले सकेंगे।

देश की सबसे बड़ी केबल कंपनी हैथवे ने भी अपने ग्राहकों को लिए प्लान पेश किया है। हैथवे अपने ग्राहकों को मैसेज भेज रहा है कि 130 रुपये के पैक में केवल फ्री-टू एयर चैनल ही देख पाएंगे, वहीं हर एक पे चैनल के लिए अलग से पैसा खर्च करना पड़ेगा। अगर दर्शकों को जी टीवी, स्टार प्लस और सोनी टीवी देखना है तो उनको 350 रुपये हर महीने खर्चा करने पड़ेंगे। सोनी के 18 प्रमुख चैनलों का पैकेज 102 रुपये में मिलेगा। वहीं एचडी पैकेज लेने के लिए हर महीने 117 रुपये खर्च करने पड़ेंगे। इस लिस्ट में स्टार और कलर्स नेटवर्क का पैकेज और स्पोर्ट्स चैनलों का दाम नहीं है। अगर उसको भी मान ले तो फिर हर महीने कम से कम 700-800 रुपये तक चुकाने पड़ेंगे।

पढ़ें: लक्ष्मण ने विराट-कुंबले विवाद पर किया चौंकाने वाला खुलासा, बताया क्या थी असली वजह ?

इसका सबसे ज्यादा बोझ उन गरीब और गांव देहात में रहने वाले दर्शकों पर पड़ेगा, जो केवल फ्री-टू एयर चैनल देखते हैं। अभी दूरदर्शन के डीटीएच पर सभी चैनल देखने के लिए लोगों के पैसे नहीं लगते थे, अन्य निजी कंपनियों के डीटीएच पर फ्री-टू एयर चैनल अभी तक आधी कीमत में देखने को मिलते हैं। इसके चलते पेड चैनलों की भी नई कीमत होगी। गांव-कस्बों और छोटे शहरों में रहने वाले लोगों के लिए 200-250 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, लेकिन अब यह बढ़कर 440 रुपये होगा। अगर स्पोर्ट्स व एचडी चैनल्स देखने होंगे तो फिर 600 रुपये चुकाने होंगे, अगर दर्शक ए-ला-कार्टे बेसिस पर चैनल देखते हैं तो फिर उनको 800 रुपये चुकाने होंगे।

रिपोर्ट: अमित सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *