kumbh
News_Special उत्तर प्रदेश

Kumbh 2019: बिना पानी के रखे गए हजारों शौचालय बने सिर दर्द, तीर्थ यात्री परेशान

प्रयागराज। Kumbh 2019 दिव्य कुंभ, भव्य कुंभ है। वहां गंदगी अभी से दिखने लगी है। कुंभ क्षेत्र में लगाए गए हजारों शौचालय मेले में बड़ी समस्या बन गए हैं, क्योंकि अभी तक इन शौचालयों में पानी नहीं आ रहा है। लिहाजा जहां कर्मचारी परेशान हैं, वहीं तीर्थ यात्रियों के साथ साधु संत भी काफी परेशान हो रहे हैं। कुंभ शुरू होने से पहले ही गंदगी की आहट सामने आ गई है।यह महंगा और बहुप्रचारित प्रोजेक्ट क्रियान्वयन पर सवाल खड़े कर रहा है, हालत यह है कि प्रयागराज की मेयर अभिलाषा गुप्ता कहती हैं कि कुंभ के शौचालयों में कई तरह की कमियां हैं, पता नहीं किस अफसर ने इस योजना को बिना पानी के कैसे मंजूरी दे दी मगर अब यह सवाल मंजूरी का नहीं समस्या के निदान का है। जानकार बताते हैं कि पूरे क्षेत्र में 70,000 से ज्यादा शौचालय बनाए गए हैं। लेकिन इसमें से अधिकतर इस्तेमाल के लायक नहीं रह गए हैं

खबर स्टेट के संवाददाता ने देखा कि कई लोग, जिनमें महिलाएं भी हैं। इन शौचालयों के पास गए और बिना इस्तेमाल किए लौट आए। अंदर पानी ना होने की वजह से यह एक प्रश्न बन गया है क्षेत्र में प्रवास कर रहे लोग, डिब्बा कहां से लाएंगे।
इस योजना के तहत कुंभ मेला क्षेत्र में 1,42000 शौचालय लगाए जाने हैं, इसे सरकार उपलब्धि बताकर गिनीज बुक में दर्ज कराने की तैयारी में है।
जबकि आधे से ज्यादा शौचालय लग गए हैं, शिविरों के अंदर लगे शौचालयों की हालत भी बेहतर नहीं है। जो सड़कों के किनारे लगे हैं वह भी दुर्दशा ग्रस्त हैं। इसी तरह यूरिनल भी लगाए गए हैं। जो केवल शौचालयों के बाहर गंदगी फैला रहे हैं।

इस व्यवस्था से खफा थे मंत्री
इस व्यवस्था से शौचालयों की हालत देख नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना खासे नाराज हैं, दिसंबर में कुंभ कार्यों की समीक्षा करने आए मंत्री ने भी मेला क्षेत्र में रखे इन शौचालयों की दशा देखी और उपयोग करने पर सवाल खड़ा किए। मंत्री ने शौचालयों के छोटा होने और पानी का इंतजाम नहीं होने पर नाराजगी जताई थी, तब लगा था कि शौचालयों में पानी का इंतजाम होगा मगर कोई बदलाव नहीं हुआ।

रिपोर्ट: रूप कुमार हरबोल

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *